गोंभा पंचायत के ननियागढ़ वासियों ने बिजली,पानी,सड़क जैसे समस्याओं से निजात पाने के लिए जिले के राजीव रंजन मीणा IAS जी का आवागमन चाहते हैं। ग्रामीण

गोंभा पंचायत के ननियागढ़ वासियों ने बिजली,पानी,सड़क जैसे समस्याओं से निजात पाने के लिए जिले के(DM)राजीव रंजन मीणा जी का आवागमन चाहते हैं। ग्रामीण

रिपोर्ट समीम बेग

गोंभा पंचायत के ननियागढ़ वासियों ने बिजली,पानी,सड़क जैसे समस्याओं से निजात पाने के लिए जिले के(DM)राजीव रंजन मीणा जी का आवागमन चाहते हैं। ग्रामीण

सिंगरौली :गोभा - सूत्रों के मुताबिक बताया जा रहा है कि ग्राम पंचायत क्षेत्र गोभा के टोला ननियागढ़ के वासियों को कई योजनाओं का लाभ नहीं मिल रहा। वही लोग बिजली पानी सड़क उपलब्ध कराने के लिए बीते 5 वर्षों से सीएम हेल्पलाइन व जिला कलेक्टर जनसुनवाई का चक्कर काट रहे हैं और 5 वर्षों में लोग सैकड़ों आवेदन प्रस्तुत कर चुके हैं लेकिन आज तक जिले के अधिकारियों द्वारा एक बार भी मौका जांच तक नहीं कराया गया नाही कोई कार्रवाई की गई। वही बताया जा रहा है कि ननियागढ़ में सबसे ज्यादा आबादी रहने की आदिवासियों की है। विकास को लेकर सबसे बड़ा सवाल ये है कि 8 किलोमीटर से लेकर 30 किलोमीटर के अंतराल में कई विद्युतीय कंपनियां हैं जो यहां से बिजली उत्पादन कर दूसरे देशों में बिजली बेचने का काम करती हैं। और दूसरे देशों को उजाला रोशनी देती हैं। लेकिन सवाल खड़ा यहां होता है। कि एनटीपीसी विद्युत पावर प्लांट से महज 8 किलोमीटर की दूरी पर लोग बिजली के लिए तरस रहे हैं।

नाही एनटीपीसी के द्वारा नाही सीएसआर एनसीएल के द्वारा यहां के गरीब जनता को ना तो बिजली मुहैया कराई जा रही नाहीं किसी संस्था के माध्यम से लोगों को स्वच्छ पानी पीने के लिए हैंडपंप खनन कराया जाता। वहीं आज की दिनचर्या में देखा जाए तो बिजली खास चौबीसों घंटे इस्तेमाल होने वाली उपकरण बन चुकी है जहां पर बिजली नहीं है वहां के लोग सैकड़ों योजनाओं से वंचित हैं। इन्हीं सभी समस्याओं से निजात पाने के लिए अस्थानीय गरीब आदिवासीयों ने अपनी समस्याओं को दिखाते हुए एक बार अपने गांव में जिले के (DM) राजीव रंजन मीणा जी का आवागमन चाहते हैं तभी संभव है गरीब लोगों का विकास हो पाना ऐशा सभी ग्रामीणों ने मांग की है।